Abhijit Muley
View Profile

10,000 से ज्यादा रुपये का टिकट कैंसल करì

Abhijit Muley at 08:17 PM - Nov 10, 2016 ( ) Views: 676

1 1

नई दिल्ली
रेलवे ने ऐलान किया है कि यदि कोई यात्री 10 हजार रुपये से अधिक की राशि के टिकट को कैंसल कराता है तो उसे नकद भुगतान नहीं किया जाएगा। टिकट रिफंड की राशि पैसेंजर के खाते में ट्रांसफर की जाएगी। यह फैसला इस आशंका को देखते हुए लिया गया है कि काले धन को खपाने के लिए रेल टिकट न खरीदे जाएं और बाद में टिकट कैंसल कराकर छोटे नोट ले लिए जाएं। यही नहीं, रेलवे ने वेटिंग के टिकट के लिए भी कैप लगा दी है। रेलवे का कहना है कि यह आशंका इसलिए है, क्योंकि बीते दो दिनों में फर्स्ट एसी की टिकट बुकिंग में एक हजार पर्सेंट और सेकंड एसी बुकिंग में दो सौ फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है।

पढ़ें: पुराने नोटों से एयर टिकट बुकिंग पर रिफंड नहीं

उधर एयरपोर्ट के काउंटरों से एयर टिकट बुक कराने वालों की तादाद में भी काफी बढ़ोतरी हुई है। एक एयरलाइंस के अधिकारी ने बताया कि नकदी रकम देकर टिकट बुक कराने वालों की तादाद में चार गुना की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि सरकार की ओर से यह निर्देश दिया गया है कि बीते 48 घंटे में नकदी देकर एयर टिकट बुक कराने वालों को न तो रिफंड दिया जाएगा और न ही टिकट कैंसल किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: नोट बदलने जा रहे हैं? ध्यान रखें ये 4 बातें

इंडियन रेलवे के एक सीनियर अफसर के मुताबिक 500 व 1000 रुपये के पुराने नोट की वैधता खत्म होने के ऐलान के बाद बड़ी संख्या में लोग यह सोचकर रेल टिकट खरीद रहे हैं कि बाद में उन्हें कैंसल कराकर 100 रुपये वाले या फिर नए नोट ले लिए जाएंगे। रेलवे का कहना है कि यह भी आशंका है कि कुछ लोग अपनी ब्लैक मनी के रूप में पुराने नोट इस तरह से खपाने की कवायद कर सकते हैं।

रेलवे का कहना है कि दिक्कत यह भी है कि लोग टिकट कैंसल कराकर रिफंड लेने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि रेलवे के पास 100 रुपये या छोटे नोटों की कमी है। ऐसे में अब रेलवे ने तय किया है कि अगर किसी यात्री ने दस हजार रुपये से ज्यादा की कीमत वाले टिकट बुक कराए हैं तो उनका रिफंड उनके बैंक खाते में भेजा जाएगा। इसके लिए यात्रियों को टिकट कैंसल कराने के लिए फार्म भरते वक्त उसमें अपने बैंक खाते की डिटेल देनी होगी।

वेटिंग टिकटों की भी सीमा हुई तय
रेलवे का कहना है कि यही नहीं, अब यह भी तय किया गया है कि वेटिंग के टिकट एक सीमा तक ही बेचे जाएंगे। इसी वजह से अब यह निर्देश दिए गए हैं कि अब एक सीमा तक ही वेटिंग का टिकट बेचा जाएगा। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक यह देखने में आया है कि नोट बदलने की उम्मीद से रेल टिकट खरीदने वाले वेटिंग का ही टिकट खरीदना पसंद करते हैं। इसी वजह से तय किया गया है कि अब वेटिंग लिस्ट बेहद कम ही रखी जाएगी।

 

 


(1 to 2 out of 2) - Latest Replies on Top | First | << Previous | Next >> | Last |
Abhijit Muley at 11:24 PM - Nov 10, 2016 ( )
Thnx for the reply and like sir !

Dilip Nilekar at 08:38 PM - Nov 10, 2016 ( )

Useful Info shared Abhijit!!

Thanx !!

1 to 2 out of 2

Login to participate in discussion.